अधीनस्थ सिविल न्यायालय में 3 जून से 30 जून तक ग्रीष्मावकाश

जयपुर। राज्य के समस्त अधीनस्थ सिविल न्यायालय ग्रीष्मावकाश के कारण सोमवार 3 जून से रविवार 30 जून तक बंद रहेंगे। राजस्थान उच्च न्यायालय, जोधपुर के रजिस्ट्रार अनूप कुमार सक्सैना ने बताया कि शीतकालीन अवकाश की भांति आवश्यक प्रकृति का सिविल कार्य संबधित पीठासीन अधिकारी अथवा लिंक अधिकारी द्वारा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि ग्रीष्मावकाश की अवधि में जिला एवं सेशन न्यायाधीश, अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश, विशिष्ट न्यायाधीश , वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश, मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट एवं मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सहित सभी पीठासीन अधिकारीगण अपने न्यायालय में लंबित फौजदारी प्रकरण एवं ग्रीष्मावकाश के लिए अंतरित फौजदारी प्रकरणों की सुनवाई एवं निस्तारण का कार्य करेंगे।

उन्होंने बताया कि समस्त जिला एवं सेशन न्यायाधीश यह भी सुनिश्चित करेंगे कि ग्रीष्मावकाश के दौरान किसी भी न्यायालय में कार्य की न्यूनता न हो। उन्होंने बताया कि समस्त जिला एवं सेशन न्यायाधीश इस अवधि में कुल प्रकरणों का वर्गवार अन्तरण तथा निस्तारण भी 11 जुलाई तक प्रारूप में ई- मेल एवं डाक के जरिए भिजवायेंगे।

सक्सैना ने बताया कि जिन अनुभागों में काम बकाया है उसमें नियुक्त कर्मचारियों को ग्रीष्मावकाश की अवधि मे अवकाश पर जाने की अनुमति नहीं होगी। साथ ही सिविल मामलों में सभी वाद पत्र अपीलें जो न्यायालय बंद न होने की परिस्थिति में ग्रीष्मावकाश की अवधि में प्रस्तुत की जातीं, न्यायालय खुलने के दिन प्रस्तुत की जायेगी।

Related posts

Leave a Comment