राज्य नियंत्रण कक्ष सहित सभी जिलों में स्वाईन फ्लू नियंत्रण कक्ष

स्वाईन फ्लू की निगरानी
जयपुर: चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रदेश में स्वाईन फ्लू पर नियंत्रण, रोकथाम एवं उपचार के लिए व्यापक व्यवस्थाएं की गयी है। स्वाईन फ्लू की निगरानी एवं पॉजिटिव पाये जाने पर संबंधित क्षेत्रों की स्क्रीनिंग व उपचार सहित तत्काल आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है। राज्य नियंत्रण कक्ष सहित सभी जिलों में स्वाईन फ्लू नियंत्रण कक्षों की स्थापित किये जा चुके हैं।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सराफ ने बताया कि इन व्यवस्थाओं की निदेशालय स्तर पर दैनिक मॉनिटरिंग की जा रही है। प्रदेशवासियों से स्वाईन फ्लू जैसे लक्षण प्रतीत होने पर बिना घबराये तत्काल निकटवर्ती चिकित्सा केन्द्र पर जाकर जांच करवाने का आग्रह किया गया है।
प्रमुख शासन सचिव ने की समीक्षा
प्रमुख शासन सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य वीनू गुप्ता ने सोमवार की सायं शासन सचिवालय में प्रदेश में स्वाईन फ्लू की स्थिति की विस्तार से समीक्षा की एंव आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। इस बैठक में एसएमएस प्रिसिंपल डॉ. यू.एस. अग्रवाल, निदेशक जनस्वास्थ्य डॉ. वी.के. माथुर सहित वरिष्ठ अधिकारीगण मौजूद थे।
गुप्ता ने समस्त राजकीय चिकित्सा संस्थानों में इंफ्लूएंजा लाइक इलनेस (जुकाम, नाक बहना, गले में खरास व बुखार इत्यादि ) इत्यादि होने पर तत्काल जांच करवाने एवं उपचार प्रारम्भ करने के निर्देश दिये। उन्होंने हाईरिस्क में आने वाले वृद्धजनों, गर्भवती महिलाओं, नवजात शिशुओं, गंभीर बिमारियों से ग्रस्त रोगियों में इंफ्लूएंजा लाइक इलनेस प्रतीत होने पर तत्काल स्वाईन फ्लू की दवा देना प्रारम्भ करने के निर्देश दिये।
प्रमुख शासन सचिव ने स्वाईन फ्लू के अधिक मामले आने पर संबंधित क्षेत्र में घर-घर जाकर इंफ्लूएंजा लाइक इलनेस पाये जाने तत्काल आवश्यक जांच व उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने टोल फ्री 104 व 108 तथा राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नम्बर 0141-2225624 की प्रभावी मॉनिटरिंग कर सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने एवं स्वाइन फ्लू के लक्षण, जांच एवं उपचार के विषय में आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

Related posts

Leave a Comment