हर्षोल्लास के साथ मनाया शिक्षक दिवस ,निजी व सरकारी शिक्षण संस्थाओं में कई कार्यक्रम आयोजित

कोटपूतली (महेशसिंह तंवर )। पूर्व राष्ट्रपति डॉ.सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिवस पर मंगलवार को क्षेत्र में शिक्षक दिवस का कार्यक्रम बड़े ही धुमधाम के साथ विभिन्न शिक्षण संस्थाओं में आयोजित किया गया। कस्बा स्थित स्टेप बाई स्टेप स्कूल में मुख्य अतिथि घासीराम शास्त्री ने द्वीप प्रज्जवलन के साथ कार्यक्रम की शुरूआत की। इस दौरान विधार्थियों ने विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। संस्था की ओर से अध्यापकों को सम्मानित किया गया। अध्यक्षता वासुदेव शर्मा ने की। वहीं संस्था प्राचार्य किरण शर्मा व प्रमोद वशिष्ठ ने आभार व्यक्त किया। इसी प्रकार डाबला रोड़ स्थित राजपूताना पीजी महाविधालय में एनएसएस की तीनों ईकाईयों के तत्वाधान में शिक्षक दिवस पर एक दिवसीय सेमीनार का आयोजन हुआ। मुख्य वक्ता प्राचार्य डॉ. एच.एन धोलीवाल ने कहा कि राष्ट्र के विकास व प्रगति में शिक्षक की भुमिका बेहद जरूरी है। उन्होंने विधार्थियों को शिक्षकों के सम्मान की नसीहत देते हुये कहा कि इसके बिना सर्वागीण विकास सम्भव नहीं। एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी दयानन्द गुर्जर व राजेन्द्र धोलीवाल ने भी विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में महाविधालय स्टाफ व छात्र-छात्रायें मौजुद थे। कस्बा स्थित हंस स्कूल में भी शिक्षक दिवस निदेशक पंकज बंसल की अध्यक्षता में धुमधाम से मनाया गया। बंसल ने डॉ.राधाकृष्णन के चित्र के समक्ष द्वीप प्रज्जवलित करते हुये कहा कि शिक्षक समाज का दर्पण होते है। मुख्य अतिथि प्रधानाचार्य हेमेन्द्र सिंह ने भी छात्रों को सम्बोधित किया। विभिन्न विधार्थियों ने विचार व्यक्त करते हुये अध्यापकों को अपना आदर्श बताते हुये उनका वेश धारण कर विधालय की व्यवस्थाओं का संचालन किया। छात्रों व विधालय परिवार की ओर से शिक्षकों का सम्मान किया गया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये अध्यापकों ने आभार व्यक्त किया। संचालन छात्रा साक्षी शर्मा व अंशुम यादव ने किया। वहीं राजमार्ग स्थित दा राजस्थान स्कूल में शिक्षक दिवस पर छात्र-छात्राओं द्वारा अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर शिक्षकों के प्रति सम्मान प्रकट किया। चैयरमैन कमलेश यादव व प्रधानाचार्य पीके भाटी एवं बरसर डॉ. राहुल दारा आदि ने द्वीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम की शुरूआत की। प्रधानाचार्य भाटी ने डॉ. राधाकृष्णन के जीवन पर प्रकाश डालते हुये उनका अनुशरण करने की बात कही। उन्होंने कहा कि शिक्षक देश के भविष्य का निर्माता होता है। जिसे पूर्ण निष्ठा, समर्पण व सच्चाई के साथ कार्य कर विधार्थियों का पथ प्रदर्शन करना चाहिये एवं निरन्तर सीखने के प्रति जागरूक रहना चाहिये। इस दौरान शिक्षक व शिक्षिकाओं ने अनेकों मनोरंजक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। विधार्थियों की ओर से शिक्षकों को उपहार भी भेंट किये गये। संचालन छात्रा प्राची अग्रवाल ने किया। इसी प्रकार राजमार्ग स्थित डीपीएस वल्र्ड स्कूल में भी शिक्षक दिवस पर कई कार्यक्रमों का आयोजन हुआ।

Related posts

Leave a Comment