औचक निरीक्षण प्रभारी जिला अधिकारी निरीक्षण के दौरान रात्रि विश्राम वही करें – वासुदेव देवनानी

वासुदेव देवनानी

जयपुर: शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने मंगलवार को शिक्षा संकुल स्थित सभाकक्ष में शैक्षिक उन्नयन के लिए राज्य के जिलों में लगाए गए विभागीय प्रभारी अधिकारियों की बैठक ली। इसी दौरान उन्होने प्रभारी अधिकारियों को नए शिक्षा सत्र से पहले आवश्यक रूप से जिलों में जाने, रात्रि विश्राम वही करने के साथ ही ब्लॉक स्तर पर शिक्षा क्षेत्र में हो रहे प्रयासों की सघन मोनिटरिंग करने की हिदायत दी।

देवनानी ने कहा कि शिक्षा अधिकारियों एवं शाला प्रधानाचार्यों का मूल्यांकन उनके शत-प्रतिशत परीक्षा परिणाम, नामांकन वृद्धि के लिए किए जाने वाले प्रयासों एवं विद्यालयों के विकास हेतु किए जाने वाले कार्यों के आधार पर किया जाएगा। उन्होने प्रभारी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे जिले में जाए तो केवल जिला मुख्यालय के विद्यालयों का ही निरीक्षण नही करें बल्कि जिले के सुदूर क्षेत्रों के स्कूलों का भी औचक निरीक्षण करने जाएं। वे वहां मिड-डे-मिल के भोजन को स्वयं चखें और उसकी गुणवत्ता की जांच करें। साथ ही विद्यालय प्रबंधन समितियों के सदस्यों और विद्यालय के स्टाफ सदस्यों से स्वयं संवाद करें। अपने स्तर पर प्रभारी अधिकारी स्थानीय भामाशाहों को जोड़ते हुए उन्हे स्कूल विकास के कार्यों में सक्रिय सहभागी बनाने का भी प्रयास करें।

शिक्षा राज्यमंत्री ने प्रभारी अधिकारियाें को जिलों के दौरे के दौरान वहां के कम से कम दो ब्लॉक में भी जाने के निर्देश दिए। उन्होने विद्यालय निरीक्षण के अंतर्गत किसी प्रकार की कमियां पाए जाने पर उनकी रिपोर्ट करने तक ही प्रभारी अधिकारियों को अपने को सीमित नही रखने को कहा।  उन्होने कहा कि प्रभारी अधिकारी कमियां मिलने पर उन्हे दुरूस्त करने के लिए भी प्रभावी कार्यवाही करें। श्री देवनानी ने कहा कि प्रयास करें कि हम सभी मिलकर राजस्थान को शिक्षा के क्षेत्र में देश का अग्रणी राज्य बनाए। इसके लिए प्रभारी अधिकारी स्कूलाें के उन्नयन, वहां साफ-सफाई और बेहतर वातावरण सुनिश्चित करने के लिए भी मोनिटरिंग करें।

शिक्षा राज्य मंत्री ने शिक्षा अधिकारियों से विभागीय पदोन्नतियों के संबंध में की गई कार्यवाही के बारे में भी जानकारी ली। उन्होने राज्य के शिक्षा उपनिदेशकों को गैर शैक्षिक कर्मचारियों की लम्बित पदोन्नतियों को भी शीघ्र करवाये जाने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि समय पर कही पदोन्नति नही की गई है तो उसके लिए जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्होने इस संबंध में आवश्यकता पड़ने पर संबंधित निर्देश देनेे, आवश्यकता वाले रिक्त स्थानों पर सेवानिवृत कार्मिक लगाने आदि के  भी निर्देश दिए।

बैठक में  देवनानी ने आवासीय प्रशिक्षण शिविरों में शिक्षकों के लिए समुचित सुविधाए सभी स्तरों पर सुनिश्चित करने, शिक्षकों के लिए वहां बेहतर माहौल आदि के लिए भी गंभीर होकर कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि शिक्षा अधिकारी शिक्षकों के साथ मानवीय दृष्टिकोण रखते हुए व्यवहार करें। बैठक में सर्वशिक्षा विभाग के आयुक्त डॉं जोगाराम ने विभागीय प्रशिक्षण के लिए किए जा रहे कार्यो के बारे में बताया।

बैठक में शिक्षा विभाग के उपशासन सचिव, राज्य के सभी शिक्षा उपनिदेशक व प्रभारी जिला अधिकारियों ने भाग लिया।

Related posts

Leave a Comment