ट्रस्टों की जांच के लिए समिति का गठन किया जाएगा

जयपुर । देवस्थान मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश के बडे़ ट्रस्टों कि जांच करने के लिए समिति का गठन कर जांच की जाएगी एवं अनियमितता पाएं जाने पर उनके विरूद्ध संख्त कार्यवाही की जाएगी।

सिंह सोमवार को उदयपुर में आयोजित बैठक के दौरान प्रदेश के विभागीय अधिकारियों से कही। उन्हाेंने कहा कि इन बड़े ट्रस्टों में अनियमितताओं की शिकायत लम्बे समय से प्राप्त हो रही है।

बैठक में सिंह ने कहा कि कैला देवी ट्रस्ट, मोती डूंगरी गणेश जी ट्रस्ट, सालासर बालाजी ट्रस्ट, मेहंदीपुर बालाजी ट्रस्ट, गोविन्द देवजी ट्रस्ट सहित अन्य बड़े ट्रस्टों में जीएसटी एवं निःशुल्क प्रसाद वितरण की व्यवस्था को लेकर अनियमितताओं की शिकायतें मिली है, इसके लिए समिति का गठन कर इन अनियमितताओं की जांच की जाएगी एवं अनियमितताएं मिलने पर नियमानुसार सख्त व कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

सिंह ने निर्देश दिए कि सभी सहायक आयुक्त अपने-अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले मंदिरों की संख्या, उनके चढ़ावे एवं अन्य आय व संपत्ति आदि का समुचित रिकार्ड संधारण करें एवं समयबद्ध निरीक्षण कर उन्हें अतिक्रमण मुक्त कराएंगे।

भगवान के आभूषणों की सूची तैयार कर प्रत्येक छः माह में उनका मूल्यांकन भी करवाया जाएगा। मंदिरों की खाते की कृषि भूमि का रिकार्ड संधारण के लिए भी उन्होंने निर्देश दिए। इन पर अतिक्रमण की स्थिति में प्रत्येक सहायक आयुक्त अपने क्षेत्र की केस रिपोर्ट बनाकर भी प्रस्तुत करें।

देवस्थान मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि विभाग की राज्य के भीतर एवं राज्य से बाहर सभी परिसंपत्तियों की सुरक्षा को लेकर उचित कदम उठाएं। विभागीय परिसंपत्तियों के किराए की बहुत कम वसूली पर नाराजगी जताते हुए उन्होंने कहा कि किराया वसूली का कार्य तेज करें।

विभाग द्वारा विभिन्न एजेंसी के माध्यम से करवाए जा रहे कुल 63 कायोर्ं की प्रगति रिपोर्ट भी उन्होंने ली। जो कार्य पूर्ण हो चुके हैं उनकी गुणवत्ता के बारे में जानकारी लेते हुए शिकायतों पर उचित कार्रवाई करने के निर्देश भी उन्होंने दिए।

श्री सिंह ने 7 अप्रारंभ कायोर्ं को शीघ्र प्रारंभ कर समयबद्ध तरीके से पूर्ण करने के निर्देश दिए। आरएसआरडीसी, पुरातत्व, सार्वजनिक निर्माण विभाग, जल संसाधन एवं देवस्थान विभाग द्वारा यह कार्य विभिन्न स्थानों पर करवाए जा रहे हैं।

एक निलंबित, एक को चार्जशीट

बैठक के दौरान सिंह ने विभागीय अधिकारियों द्वारा काम में लापरवाही को गंभीरता से लेते हुए काम में कोई कोताही नहीं बरतने की हिदायत दी। लापरवाही की शिकायत पर बीकानेर के निरीक्षक भंवर सिंह शेखावत को तुरंत निलंबित कर दिया। वहीं सहायक आयुक्त श्री महेन्द्र देवतवाल को चार्जशीट दी।

धर्मशालाएं देंगे लीज पर

बैठक में बताया गया कि विभाग की 17 धर्मशालाओं को लीज पर दिया जाएगा जिससे उनका समुचित रखरखाव होगा, यात्रियों को उचित सुविधा मिलेगी एवं विभाग की आय में भी बढ़ोतरी होगी। उन्होंने सभी सहायक आयुक्तों को 7 दिन के भीतर लीज की कार्रवाई कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा।

बैठक में विभाग के आयुक्त कृष्ण कुणाल, अतिरिक्त आयुक्त श्री दिनेश कोठारी सहित सहायक आयुक्त एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग, आरएसआरडीसी, पुरातत्व, जल संसाधन एवं अन्य सहयोगी विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Related posts

Leave a Comment